Swadesh Darshan Yojana Scheme

Swadesh Darshan Yojana Scheme
5 (100%) 1 vote[s]

स्वदेश दर्शन योजना तथा पर्यटक सर्किट एवं पात्रता के बारे में जानकारी देने जा रहे है, जिसमे आपको इस योजना के तहत लाभ लेने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होगा, यह योजना स्कीम पर्यटकों को आकर्षित करने के सरकार द्वारा आयोजित की गई है|

स्वदेश दर्शन योजना| पर्यटक सर्किट| पात्रता | Swadesh Darshan Scheme

तो मेरे प्यारे दोस्तों आज हम आपको स्वदेश दर्शन स्कीम के बारे में पूरी जानकारी दे रहे हैं| Swadesh Darshan Scheme Circuits Swadesh Darshan Scheme Eligibility Criteria Swadesh Darshan Yojana Online Registration Application Formवर्ष 2015 में हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा देश में अधिक से अधिक पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए एक नई सरकारी योजना को शुरु किया गया था जिस सरकारी योजना का नाम स्वदेश दर्शन योजना और तीर्थयात्रा कायाकल्प आध्यात्मिक संवर्धन ड्राइव है| इस सरकारी योजना के अंतर्गत तीर्थयात्रा कायाकल्प और अध्यात्मिक संवर्धन ड्राइव कराया जाता है इतना ही नहीं इसके अलावा भी केंद्र सरकार को अधिक आंगतुकों को प्राप्त करने के लिए देश के विरासत शहरों को बेहतर तरीके से विकसित करने की ओर अग्रसर किया जाएगा इसके साथ ही इस योजना में कुछ पर्यटक सर्किट होंगे जो पर्यटकों द्वारा कवर किए जाएंगे|

Swadesh Darshan Scheme

महत्वपूर्ण बिंदु – स्वदेश दर्शन योजना

  • यह सरकारी स्कीम कैबिनेट मंत्रालय और भारतीय पर्यटन मंत्रालय के द्वारा हमारे देश में किया गया है|
  • इस सरकारी योजना को अधिकारिक रूप से भारत की केंद्र सरकार द्वारा शुरू किया गया है|
  • इस सरकारी योजना के अंतर्गत एक ही दौर में विशिष्ट पर्यटक सर्किट का दौरा करने का अवसर मिलेगा|
  • हम आपको बता दे की सरकार द्वारा शुरु की गई इस योजना के शुरू होने से भारतीय पर्यटन और विभिन्न तीर्थ स्थलों के विकास को बढ़ावा देती है|
  • इस योजना के अंतर्गत भारतीय पर्यटन और विभिन्न तीर्थ स्थलों के विकास को बढ़ावा मिलेगा|
  • यह स्थानीय आधार पर राष्ट्र में रोजगार सृजन को बढ़ावा देता है। जो लोग है शहर के विकास में संलग्न स्थानीय लोगों के साथ मिलकर काम करना आगंतुकों के लिए आसान होगा|

विशेषताएँ – स्वदेश दर्शन योजना – Swadesh Darshan Scheme

  • इस स्वदेश दर्शन योजना को भारत की केंद्र सरकार द्वारा पूरी तरह से वित्त पोषित किया गया था| इतना ही नहीं इस योजना के अंतर्गत 13 शहर ऐसे हैं जो विकास पर विचार कर रहे हैं| यह 13 शहर सभी तीर्थ स्थल हैं|
  • इसके अलावा 13 पर्यटक सर्किट हैं जो प्रस्तावित के तहत शुरू किए गए हैं| इन 13 सर्किटों के तहत कई शहर हैं और आगंतुकों को वहां नीचे आने और अपनी छुटी का आनंद लेने के लिए साईटें जोड़ी जाती हैं|
  • हम आपको यह बताना चाहते हैं की यह योजना केंद्र सरकार और पर्यटन मंत्रालय का संयुक्त उपक्रम है| योजना शुरू करने से दोनों मंत्रालय राष्ट्र के विरासत शहरों को विकसित करने और उन्हें दुनिया भर के पर्यटकों के लिए संरक्षित करने में सक्षम होंगे|

पर्यटक सर्किट – स्वदेश दर्शन योजना – Swadesh Darshan Scheme

  • बौद्ध सर्किट
  • तटीय सर्किट
  • कृष्णा सर्किट
  • रामायण सर्किट
  • डेजर्ट सर्किट
  • आध्यात्मिक सर्किट
  • नॉर्थ-ईस्ट सर्किट
  • हिमालयन सर्किट
  • हेरिटेज सर्किट
  • आदिवासी सर्किट
  • ग्रामीण सर्किट
  • इको सर्किट
  • वाइल्डलाइफ सर्किट

स्वदेश दर्शन योजना में सरकार की भूमिका

सरकार इस योजना में सबसे बड़ी भूमिका निभाती है, क्योंकि यह योजना भारत में केंद्र सरकार और पर्यटन मंत्रालय द्वारा संयुक्त रूप से शुरू की गई थी, इसलिए पूरी फंडिंग और विकास प्रक्रिया केवल सरकार द्वारा ही की जाएगी|

यह घोषित किया गया है की सरकार ने क्रमश: 100 करोड़ रुपए और 600 करोड़ रुपए अवंटीत किए है| तीर्थयात्रा शहरों और स्थलों के कार्यान्वयन और विकास जारी होगी| धनराशि और सार्वजनिक उपक्रम क्षेत्रों और कॉर्पोरेट क्षेत्रों द्वारा कुछ विकास प्रक्रिया शुरू की जाएगी|

योजना स्वदेश दर्शन योजना और तीर्थयात्रा कायाकल्प आध्यात्मिक संवर्धन ड्राइव
प्रदर्शित वर्ष 2014-15
प्रदर्शित किसके द्वारा केंद्र सरकार और भारतीय पर्यटन मंत्रालय
शहरों के अंक की इस योजना के अंतर्गत 13
पर्यटकों के अंक 13
अंदाजित बजेट Rs. 600 Cr.

23/08/2018

स्वदेश दर्शन योजना की घोषणा केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय ने कुछ समय पहले की थी । 72 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मणिपुर के राज्यपाल के. नजमा हेपतुल्ला स्वदेश दर्शन योजना के तहत पहली परियोजना का उद्घाटन करेंगे । इस परियोजना के तहत, प्राधिकरण ‘ नॉर्थ ईस्ट सर्किट ‘ पर काम शुरू करेगा जो इंफाल के साथ खोंगजोम से जुड़ जाएगा । यह ७० विभिन्न परियोजनाओं में से पहला है, जिसे केंद्र सरकार द्वारा मंजूर किया गया था|

15/01/2019

केरल में स्वदेश दर्शन योजना: केरल राज्य में पर्यटन विभाग के विकास के लिए केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय ने वित्तीय मदद के रूप में 85.23 करोड़ रुपए देने का फैसला किया है । इससे स्वदेशी दर्शन योजना से संबंधित राज्य में आध्यात्मिक पर्यटन को बेहतर बनाने में भी मदद मिलेगी । इसके अलावा, गुरल: पर्यटन विभाग में एच राज्य भर में 133 स्थानों की पूजा में सुधार करने के लिए सहायता करेगा । 14 जिलों से केंद्र सरकार ने विभिन्न आस्थाओं से स्मारकों को चुना है । पर्यटन स्थलों का चयन उनके सांस्कृतिक, ऐतिहासिक और धार्मिक महत्व के आधार पर किया जाता है । यह पर्यटन योजना उपर्युक्त योजना से संबंधित राज्य में मंजूर छठी परियोजना में शामिल है|

केरल की स्वदेश दर्शन योजना के संबंध में, राज्य सरकार आनन्दन मंडपम जैसे सार्वजनिक स्थलों को बनाने के बारे में चिंतित होगी । बहुउद्देशीय हॉल । सामुदायिक हॉल, कैफेटेरिया, शौचालय, पार्किंग की जगह, रास्ते, बागवानी और अंततः पर्यटन स्थलों को बेहतर बनाने में मदद करते हैं । अब तक, केंद्र सरकार ने स्वदेश दर्शन और प्रसाद परियोजनाओं के संबंध में केरल राज्य के लिए 550 करोड़ रुपये दिए हैं । स्वदेश दर्शन योजना के संबंध में कुल 6 परियोजनाएं हैं । इसके अलावा, प्रसाद योजना से संबंधित 1 परियोजना है और राज्य सरकार द्वारा कुल रुपये 175 करोड़ की मंजूरी दी गई है|

तो दोस्तों यहा पर हमने स्वदेश दर्शन योजना के बारे में जरुरी जानकारी देने का प्रयत्न किया गया है| अगर आपको स्वदेश दर्शन योजना से संबंधित कोई भी सवाल हो या आपको इससे जुडी अधिक जानकारी चाहिए तो आप हमसे नीचे दिए गए COMMENT BOX के माध्यम से संपर्क कर सकते है| हम आपके सवाल का जवाब अवश्य देंगे आप हमारी यह पोस्ट को लाइक और शेयर कर सकते हैं जिससे आपको नई योजनाओं से जुडी हर एक जानकारी आपको मिले| धन्यवाद आपका दिन अच्छा रहे|

Leave a Reply